ब्रेकिंग न्यूज़
  • Home
  • शहडोल
  • झोलझाल : मध्यप्रदेश के इस जिले में बी.ई.ओ. की लालफीताशाही, जांच विधिवत् होतो व्यापाम की तर्ज पर किया घोटाला होगा बेनकाब
अनूपपुर उमरिया डिंडोरी दिल्ली ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल शहडोल

झोलझाल : मध्यप्रदेश के इस जिले में बी.ई.ओ. की लालफीताशाही, जांच विधिवत् होतो व्यापाम की तर्ज पर किया घोटाला होगा बेनकाब

 

कभी खिलते होंगे गुलों में गुल,
कभी देवदासियों का भी श्रंगार होता होगा ।
अभी नेता जी चुप हैं कभी श्रोता जी चुप थे ,
क्या सोचा हैं बस यूँ ही चुपचाप में सियासी जनाज़ों का क़ाफ़िला निकल जायेगा ।
फिर मिल बाँटकर सियासत के गलियारे में,
आम जनता का निवाला उड़ाया जायेगा।
क़लम जब भी लिखती हैं अवाम ए हालात की बातें…पढें खास रिपोर्ट…
  • शहडोल बुलेटिन। मध्यप्रदेश शासन द्वारा अपने अध्यापकों को छठवें वेतनमान का लाभ दिए जाने को लेकर स्पष्ट दिशानिर्देश जारी किए गए थे जिसमें अध्यापकों का बढ़ा हुआ वेतन मान एक साथ ना दिया जा कर तीन किस्तों में दिया जाने के आदेश शासन द्वारा जारी किए गए थे जिसको लेकर ब्लॉक स्तर के खंड शिक्षा अधिकारी शासन की गाइड लाइन के अनुसार अपने यहां कार्यरत सहायक अध्यापकों को बड़े हुए एरियर्स का भुगतान तीन चरणों में किया जाना सुनिश्चित था लेकिन सुहागपुर खंड शिक्षा अधिकारी जो अंगद के पांव की तरह खुद को जमा कर बैठे हुए हैं के द्वारा सभी नियमों को ताक में रखकर 31 सहायक अध्यापकों तीसरा एरियर्स का  भुक्तान जो मई 2020 में होना था उसे अक्टूबर 2019 में ही भुगतान कर दिया गया जब इस बात की जानकारी विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को हुई तो उनके द्वारा इस पर कोई बड़ी कार्रवाई ना करते हुए उन 31 सहायक अध्यापकों को आवंटित किए गए एरियर्स की तीसरी किस्त की वसूली फरवरी 2020 में की गई लेकिन इसके बावजूद इस पूरे मामले मैं एक बड़ा भ्रष्टाचार स्वयं सिद्ध नजर आता है क्योंकि तीसरी किस्त की मूल राशि की ही रिकवरी की गई जबकि उस पर प्राप्त होने वाला ब्याज आज भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा हुआ है वहीं दूसरी ओर ऐसी अनियमितता करने वाले खंड शिक्षा अधिकारी के विरुद्ध किसी भी प्रकार की दंडात्मक कार्यवाही वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित क्यों नहीं की गई ऐसे कई मामले विकास खंड शिक्षा अधिकारी शिव प्रताप सिंह चंदेल लगे हुए हैं बावजूद इसके कि उन पर कड़ी कार्रवाई की जाए पता नहीं कौन सी जादू की छड़ी है जिसे घुमाने के बाद मामले पर बेदाग साबित हो जाते हैं और फिर से अंदर की तरह खंड शिक्षा अधिकारी के रूप में अपनी सेवाएं जारी रखते हैं  यदि जन चर्चाओं की माने तो अपने अच्छे मैनेजमेंट के गुण के कारण बड़े से बड़े सिद्ध मामले में भी फाइलों को लालफीताशाही की भेंट चढ़ाकर नए समीकरणों की खोज जारी रहती है।
प्रशासनिक प्रतिक्रिया…
आपके माध्यम से मुझे जानकारी मिली है में अभी इस मामले को देखता हू ओर जो उचित कार्यवाही होगी किया जाएगा।
एस.के. श्रोती
सहायक आयुक्त
आदिम जाति कल्याण विभाग शहडोल, मध्यप्रदेश

Related posts

NCL Recruitment 2020: Over 300 vacancies of operator notified, 10th pass can apply

admin

लालफीताशाही: कुलस्ते की कारस्तानी से परेशान किसान DM ने किया निराकरण, विभाग ने अटकाया रोड़ा, मामला खनिज विभाग का

Shahdol Bulletin

लापरवाही : सूबे के मुख्यमंत्री को सुनाओ समस्या हमको और भी काम है, पॉवरकट से परेशानियों का विभाग के पास नही समाधान ग्रामीणों का आरोप

Shahdol Bulletin

MP के इस संभाग मे मचा कोहराम चेक पोस्ट की आड़ मे वंशिका ग्रुप की कारस्तानी, वसूल रही गुंडाटैक्स गुर्गे मार पीट पर उतारू, इधर निर्मित आराजकता का माहौल, जनप्रतिनिधियों ने सौपा ज्ञापन कार्यवाही की मांग

Shahdol Bulletin

सौगात: CM ने ब्यौहारी कटनी मार्ग में विजय सोता पुल का किया लोकार्पण,

Shahdol Bulletin

साठगांठ: पथराव के बाद जागा अमला, किए सारे रास्ते बंद, वंशिका की आड़ में चंदन ने काटा झाड…. मानसून सत्र में लगे प्रतिबंध के बावजूद अवैध खनन कोयलाचोरो को कमान

Shahdol Bulletin

एक टिप्पणी छोड़ें