ब्रेकिंग न्यूज़
  • Home
  • कहानी
  • Friendship Day Special:  चाणक्य ने अपने शास्त्रों में बताया है कि सच्चे दोस्त की पहचान कैसे की जाती है..
अन्य उत्तर प्रदेश कहानी छत्तीसगढ़ महाकौशल राजस्थान विंध्यांचल शहडोल

Friendship Day Special:  चाणक्य ने अपने शास्त्रों में बताया है कि सच्चे दोस्त की पहचान कैसे की जाती है..

इवेंट डेस्क

शहडोल बुलेटिन। मित्र और मित्रता हमारे जीवन का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं दोस्तों से हम अपने मन की सभी बाते शेयर करते हैं। एक सच्चा दोस्त वो होता है जो आपको कभी उदास नहीं रहने देता, वो आपको हमेशा खुश रखने की कोशिश करता है, आपका एक सच्चा दोस्त वो होता है जो आपकी गैरमौजूदगी में भी आपकी बुराई नहीं सुन सके, लेकिन कई बार देख गया है कि अक्सर इंसान सच्चा दोस्त चुनने में गलती कर देता है। इससे वह मुसीबत में भी फंस जाता है कई बार लोग सच्ची दोस्ती का दिखावा करके आपके साथ धोखा करते हैं, ऐसे दोस्त आपके लिए परेशानी का सबब बन सकते हैं, अर्थशास्त्र के आदर्श माने जाने वाले चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में कुछ बातों का उल्लेख किया है चाणक्य ने अपने शास्त्रों में बताया है कि सच्चे दोस्त की पहचान कैसे की जाती है…

 

 

 

कभी भी ऐसे व्यक्ति को अपना मित्र ना बनाएं जो सामने तो आपकी तारीफ करता हो लेकिन मौका मिलते ही आपके पीछे लोगों से आपकी बुराई करता है। ऐसे मित्र कभी भी आपके सगे नही होते। धूर्तों की फौज इकटठा करने से बेहतर है कि एक मजबूत मित्र बनाए। साथ साथ आपको बहरूपिया, इच्छाधारी किरदारों वाले इन लोगों से दूर रहने में ही भलाई होती है।

कभी भी किसी पर आंख बंद करके भरोसा ना करें फिर वह आपका सच्चा मित्र ही क्यों ना हो. इसके पीछे बड़ा कारण यह है कि कभी मित्र से लड़ाई होने पर वह आपके उन सभी राज़ को खोल सकता है जो आपके उस पर भरोसा करके उसे बताएं हैं।

हमें अपने हम उम्र लोगों से ही दोस्ती करें। कई बार अपनी उम्र सो छोटे और बड़े लोगों से दोस्ती करने से रिश्तों में दरार आने की संभावना ज्यादा रहती है. आपो बता दें कि अक्सर लोग उन व्यक्तियों के दोस्त बनने की कोशिश करते हैं जो अमीर होते हैं। ऐसे में किसी से भी दोस्ती करते समय इन बातों का खास ख्याल रखें।

हमेशा ऐसे लोगों से दोस्ती करें जिनका स्वभाव आपकी तरह हो विपरीत स्वभाव के लोग कभी भी आपके दोस्त नहीं बन सकते हैं। वह कहने के लिए तो आपके दोस्त होंगे लेकिन यह रिश्ता केवल दिखावे का होगा।

व्यक्ति को चाहिए कि वह हमेशा मित्रों के चयन से पहले उसे जांच परख ले तथा खूब सोच विचार कर ले क्योंकि एक बार यदि दोस्ती गाढ़ी हो गई तो उसके बाद उसके परिणाम और दुष्परिणाम सामने आने लगते हैं। आपसी खींचतान की बजाएं सही मित्रों का चुनाव करें।

अगर आपकी भी रूचि समाजिक सरोकार और इवेंट, धार्मिक, पर्यावरण, पर्यटन आदि संबंधी लेखन मे है तो आपका आर्टिकल नाम, फोटो मोबाइल नंबर सहित प्रकाशित किया जाएगा। व्हाटस्एप करें 9575511705, 9893779923, 9425830963

Related posts

 उठापटक: SECL सोहागपुर मे गजब का कुप्रबंधन, सिंह साहब की हठधर्मिता… महारत्न दर्जा कंपनी की साख पर बट्टा

Shahdol Bulletin

जिला महिला समिति पदाधिकारियों ने किया पौधारोपण

Shahdol Bulletin

बडा सवाल : पहले दिखाया कार्यवाही का दम, अब बेलगाम अवैध संचालित कारोबार पुलिस की साख लग रहा बट्टा….

Shahdol Bulletin

लापरवाही : रसमोहनी मे एक सर्राफा व्यापारी एवं पंचायत सचिव से ग्रामीणों मे दहशत, नागपुर मे लिफ्ट दी लौटें तो निकला कोरोना संक्रमण, जांच से छिप रहे लोगों पर उठी कार्यवाही की मांग

Shahdol Bulletin

US summons Chinese envoy over Beijing’s coronavirus comments

admin

बड़ी खबर: बेखौफ रेत माफिया, बटली में खनिज अमले पर हुआ पथराव….

Shahdol Bulletin

एक टिप्पणी छोड़ें